बिहार की महिला कांस्टेबल ने प्रेग्नेंसी में मेंस परीक्षा दी थी, अब रिजल्ट आया, तो DSP बन गई

0
1881
Bihar Constable Babli Kumari
Bihar Constable Babli Kumari from Gaya district, is all set to become a DSP Officer after getting training at Bihar Police Academy in Rajgir.

Photo Credits: Twitter

Begusarai: किसी भी महिला में यदि कोई भी कार्य करने कि इच्छाशक्ति रहे, तो वह महिला अपने जीवन में कुछ भी हासिल कर सकती है। किसी भी मंजिल पर पहुच सकती हैं। चाहे उनके कंधे पर कितनी भी जिम्मेदारी क्यो ना हो। क्योकि आप सभी लोग अच्छे से जानते है कि एक शादीशुदा महिला के ऊपर घर से जुड़ी कितनी जिम्मेदारी रहती है। फिर भी महिला हर जिम्मेदारी को उठाते हुए आगे बढ़ती है।

घर की जिम्मेदारी के साथ कांस्टेबल की नौकरी कर बनी डीएसपी

हम आज बात करेंगें, एक ऎसी महिला की जो बिहार के बेगूसराय मे एक सिपाही (कांस्टेबल) के पद पर कार्यरत थी और आज वह डीएसपी है। इस महिला का नाम बबली कुमारी (Babli Kumari) है। इस महिला ने अपनी जीवन मे इतना कठिन परिश्रम और मेहनत किया है कि आज वह डीएसपी (DSP) बन गई है।

कहते है कि मन में यदि ज़ज्बा, कठिन परिश्रम, लगन हो तो कोई भी लक्ष्य को प्राप्त कर सकते है। आज इस महिला ने इस कामयाबी को प्राप्त कर यह साबित कर दिखाया है। उनके उपर पुरे घर की सास-ससुर, पति व उनके छोटे बच्चों की जिम्मेदारी थी। लेकिन फ़िर भी कांस्टेबल बबली कुमारी (Constable Babli Kumari) ने अपनी ड्युटी कर डीएसपी बन खुद को साबित किया है कि वह इन सब जिम्मेदारी के साथ अपनी ड्युटी भी कर सकती है।

तीन बार के प्रयासों के बाद डीएसपी बनने में पाई सफ़लता

आपको बता दे बेगूसराय जिला मे कार्यरत सिपाही बबली का जीवन बहुत ही कठनाई से भरा पड़ा था। घर की जिम्मेदारी और कुछ बनकर सफलता प्राप्त करने का जुनून। इन सब के बीच मर उन्हें बहुत परेशानी उठानी पड़ी। सिर्फ पहले प्रयास में वह सफल नहीं हुई।

उन्होने डीएसपी बनने के लिए तीसरी बार के प्रयास मे बीपीएस को पास कर सफ़लता प्राप्त की। उनकी सफलता बेगूसराय पुलिस और बिहार पुलिस के साथ साथ अन्य कर्मचरियों के लिए भी गर्व की बात है।

बेगूसराय मे बबली जी आज पुलिस की पोस्ट पर पदस्थापित

बबली कहती है यदि किसी के मन में कुछ करने की उमग हो तो वह कोई भी काम करने से पीछे नही हटता। बबली ने ऐसे ही जिम्मेदारी से घिरी और भी महिला को जागरूक करते हुए कहा कि जब मैं घर की जिम्मेदारी के साथ नौकरी कर सकतीं हूं, तो मेरे जैसे अन्य महिला भी कर सकती है। सबसे अच्छी बात यह कि बबली जी को राजगीर प्रशिक्षण केंद्र के पूर्व एस पी योगेंद्र कुमार ने सम्मानित भी किया है।

आपको बता दें कि बबली बोधगया के भागलपुर (Bhagalpur) में रहने वाले रोहित कुमार की पत्नी है, जिन्होंने कांस्टेबल की शुरुवात 2015 में खगड़िया मे की थीं। लेकिन अब वह वर्तमान समय में बेगूसराय (Begusarai) में पुलिस की पोस्ट पर कार्यरत है।

2013 में की थी रोहित कुमार से शादी

बबली अपने विचार व्यक्त करते हुए कहती है कि हमारे मन में ऐसी इच्छा रखनी चाहिए की हम अपने जीवन में कुछ कर सके। यदि ऐसी इच्छा मन मे हो तो सच में हम अपने लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। उनकी शादी रोहित कुमार से साल 2013 में हुईं थीं और उनकी एक 7 महिने की बेटी भी है। जिसका नाम आरवी है। बबली ने बताया कि उनकी यह इच्छा थी कि वह बहुत बड़ी अधिकारी बनें।

छः महीने की प्रेग्नेंट बबली ने दी थी मेंस की परीक्षा

बबली के डीएसपी बनने में उनके ससुराल वालो, पति और उनके मायके वालो का बहुत सपोर्ट रहा। वह जब भी घर के कामों से फ़्री होती और उन्हे मौका मिलता तो वह पढ़ाई करती रहती थी। तीन बार की प्रयासों के बाद उन्होने बीपीएससी की परीक्षा को पास कर सफलता प्राप्त की।

जब वह 6 माह की गर्भवती (Pregnant) थी, तब उन्होंने मेंस की परीक्षा दी थी। बबली जी बताती है की मै अपनी नौकरी के साथ साथ पीटी की तैयारी भी कर रही थी। इसलिए मेंस की परीक्षा (Mains Exam Paper) में पास नहीं हो पा रही थी, क्योंकि नौकरी करने के साथ साथ पढ़ाई करना बहुत मुश्किल हो रहा था। तो कुछ दिनों के लिए मै पटना चली गई और वहा रहकर मैने तैयारी की।

वह कहती है कि यदि कोई कुछ करने में दिलचस्पी रखता हैं और आगे बढने की इच्छा रखता है, तो वह आगे बढ सकता है। क्योंकि जब मै अपने सपने को पूरा कर सकती हूं, तो मेरे जैसे अन्य लोग भी यह कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here