इस युवा ने MBA की डिग्री करके अपनी माँ के साथ स्टार्टअप शुरू किया, अब दूसरों को रोजगार दे रहे हैं

0
355
Bamboo products startup
After MBA Satyam Sundaram starts startup with mother, now he gives employment to 11 people. He Is Selling Bamboo Products On The Footpath.

Photo Credits: Satyam Sundaram

Purnia: भारत में बहुत से ऐसे माँ-बेटे, पिता-बेटी की जोड़ी है, जो अपने पेरेंट्स का सपोर्ट लेकर अपना खुद का व्यापार शुरू कर रहे है। कहते है दुनिया में माता पिता से अच्छा दोस्त और अच्छा सलाहकार कोई नहीं हो सकता। वे हमेशा अपने बच्चों की भलाई के बारे में सोचते रहते है और ईश्वर से प्रार्थना करते रहते है।

कुछ माता पिता अपने बच्चों में अपना बचपन जीते है, जो वे नहीं कर सके वे उनके बच्चों को करवा कर अपने सपने पुरे करते है। हर दिन सोशल मीडिया पर ढेरो वीडियो और कहानी अपलोड होती है। जो काफी मोटिवशनल होती है।

आज के समय में लोग अपने टेलेंट को बिसनेस बना रहे है और खूब पैसा कमा रहे है। कुछ पेरेंट्स ऐसे भी होते है जो अपने बच्चो के साथ मिलकर उन्हें एक अच्छा मुकाम देते है और उन्हें सफलता भी दिलाते है।

आज की कहानी भी कुछ इसी तरह है जहाँ पर एक बेटे ने अपनी माँ के साथ मिलकर एक व्यापार शुरू किया और आज वे पैसे कमाने के साथ ही लोगों को रोजगार दे रहे है आइये हम इनकी कहानी को विस्तार से जानते है।

बिहार की कहानी

लोगो का मानना है कि अगर हौसलो में जान हो, तो दुनिया का कोई भी काम नामुमकिन नहीं होता। इसी लिए बिहार राज्य के पूर्णिया जिले के रहने वाले एक युवक ने एमबीए की पढ़ाई पूरी करके अपना खुद का बिसनेस शुरू किया।

वर्तमान समय में यह युवा बांस से 55 प्रकार से आकर्षक प्रोडक्ट (Bamboo Products) बनाता है और मार्किट में सेल करता है। इस काम के लिए उस युवक ने 11 लोगों को काम दिया। प्रधामंत्री रोजगार सृजन योजना के अंतर्गत बैंक के द्वारा भी उनकी मदद की गई। बहुत से इलाको में बाजारों में उन्होंने अपना स्‍टॉल लगाया। जिससे उन्हें काफी मुनाफा हुआ और लोगों से तारीफे भी मिली।

एमबीए पास (MBA Passout) होने के बाद भी उनके लिए कोई काम छोटा या बड़ा नहीं है, इसलिए इस युवक की चारो तरफ चर्चा है। बिहार के पूर्णिया जिले (Purnia district) के रहने वाले युवक सत्यम सुन्दरम एक वेल एडुकेटेड पर्सन है, उन्होंने एमबीए की डिग्री कर रखी है। अपनी पढ़ाई पूरी कर सत्यम अपनी मां आशा देवी के साथ अपनी जन्मभूमि से स्वयं का व्यापार शुरू किया।

सत्यम बताते है कि उन्होंने प्रधानमंत्री रोजगार के सृजन योजना के अंतर्गत मणिपुरी बम्बू से सोफा, टेबल, बोतल, ज्वैलरी, पेंटिंग के साथ साथ अन्य 55 प्रकार के उत्पाद निर्माण का कार्य शुरू किया। शुरुआत में सब चीजे बहुत ही परेशान करने वाली होती है परंतु अब उन्हें बैंक से भी मदद मिल रही है।

मात्र एक साल में ही व्यापार चल पड़ा

एक साल लगातार प्रयास करते रहने पर आज उन्हें सफलता मिली और आज वे अपने साथ 11 लोगों को लेकर काम कर रहे है। उन्होंने (MBA Satyam Sundaram) अपनी आमदनी के साथ 11 लोगो को भी रोजगार दिया।

सत्यम की माता आशा देवी (Aasha Devi) बताती है कि उनके बेटे का मन शुरू से ही था कि वो अपना एक बिज़नेस शुरू करे और ऐसा हुआ भी सत्यम ने अपनी पढ़ाई खत्म कर खुद का एक स्टार्टअप शुरू किया। वे कहती है कि सत्यम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के माध्यम से स्टार्टअप (Startup) करने की प्रेरणा मिली। उद्यो्ग विभाग और बैंक के द्वारा भी उन्हें काफी मदद दी गई।

कई सरकारी विभाग से भी मिली मदद

उद्योग विभाग के कर्मचारी जीएम संजय वर्मा कहते है कि सत्यम के द्वारा पहली बार प्रदर्शनी में एक स्‍टॉल लगाया था जिसे देख संजय वर्मा को काफी ख़ुशी हुई। उनके प्रोजेक्ट को देख कर वर्मा जी ने उसे पीएमजीपी से जोड़कर बैंक से 10 लाख रुपये का लोन भी निकलवाया जिससे उनका व्यापार खूब बढ़ गयाी।

Money Investment

उद्योग मंत्री शहनवाज हुसैन कहते है कि पीएमजीपी के लिए यह एक अच्छा प्रोजेक्ट है। सत्यम के द्वारा निर्मित उत्पाद को वे खादी मॉल में जगह देंगे और उन्हें आगे बढ़ाने में सरकार पूरी सहायता करेगी।

प्रधानमंत्री के द्वारा चलाई गई योजना मेक इन इंडिया के तहत भी जोड़ा गया

कहते हैं जिसमे कुछ कर गुजरने का हौसला होता है उन्ही को उनकी मंजिल मिलती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी व्यापारियों के लिए काफी सारी योजना चला रहे है। PM मोदी स्टार्टअप और मेक इन इंडिया को खूब बढ़ावा दे रहे है, जिससे लोग आत्मनिर्भर भी बन सके। ऐसे में सत्यम सुन्दरम जैसे पढ़े लिखे युवा स्टार्टअप के तहत ऐसे काम करके और लोगों को रोजगार देंगे, तो एक दिन हमारा भारत देश सबसे अमीर देश बन जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here