Friday, January 28, 2022
Home > Jabalpur > MP का Narmada Expressway इन 11 जिलों से जायेगा, यमुना एक्सप्रेसवे से 4 गुना बड़ा होगा

MP का Narmada Expressway इन 11 जिलों से जायेगा, यमुना एक्सप्रेसवे से 4 गुना बड़ा होगा

Narmada Expressway MP

Demo Photo Credits: Twitter

Jabalpur: देशभर में अनेक विकास कार्य हो रहे है। PM मोदी के शासन काल में परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कमर कासी हुई है की पूरे देश को एक्सप्रेसवे से जोड़ देंगे। सरकार का एक बड़ा प्रोजेक्ट भारतमाला प्रोजेक्ट चल रहा है।

यह भारतमाला प्रोजेक्ट (Bharatmala Project) कई राज्यों से होकर गुजरेगा। इसके अंतर्गत मध्य प्रदेश में 1265 किलोमीटर लंबा नर्मदा एक्सप्रेस-वे (Narmada Expressway) बनाया जाना है। यह एक्सप्रेस-वे मध्य प्रदेश के 11 जिलों से गुजरेगा।

इस एक्सप्रेस के बनांने में 31 हजार करोड़ (31000 Crore) का खर्चा आने वाला है। इसके बनने से एक फायदा यह होगा की छत्तीसगढ़ सीधा गुजरात (Chhattisgarh to Gujarat) से जुड़ जाएगा। यह एक्सप्रेसवे दिल्ली-बड़ोदरा एक्सप्रेस कॉरिडोर से जॉइंट हो जायेगा। इसके बाद नर्मदा एक्सप्रेस का काम बढ़ाया जाना है। नर्मदा एक्सप्रेस वे मध्यप्रदेश की सबसे लंबी सड़क कहलाएगी।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है की नर्मदा एक्सप्रेसवे (Narmada Expressway) देश का सबसे लंबा सिक्सलेन (Six Lane Road) और मध्यप्रदेश का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे (Largest Expressway in Madhya Pradesh) रहेगा। इस एक्सप्रेस-वे का लम्बाई 1265 किलो मीटर होने वाली है।

भोपाल से मिली जानकारी के अनुसार यह नर्मदा एक्सप्रेस-वे अनूपपुर, डिंडोरी, मंडला, जबलपुर, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, हरदा, खंडवा, खरगौन, बड़वानी और अलीराजपुर जिलों से होने हुए नीलकेगा। इसमें सड़क के दोनों तर्ज राईट ऑफ होगा, जिसे लगभग 100 मीटर किया जाना है।

यह मध्यपरदेश के अनूपपुर को सीधा छत्तीसगढ़ से जोड़ देगा। मध्य प्रदेश की अलीराजपुर रोड को गुजरात के अहमदाबाद से जोड़ा जाएगा। इस एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट की अलाइनमेंट रिपोर्ट मीडिया में आ गई है। इस रिपोर्ट में मध्यप्रदेश के 12 स्टेट हाइवे और नेशनल हाइवे को शामिल किया गया है। अभी इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत शामिल स्टेट हाईवे केवल 2-लेन ही हैं। अब इस सड़कों का चौड़ीकरण और विकास कार्य किया जाएगा।

भारतमाला परियोजना को राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना (NHDP) के बाद भारत में दूसरी सबसे बड़ी राजमार्ग निर्माण परियोजना के रूप में देखा गया है। केंद्र सरकार की सबसे अहम् भारतमाला परियोजना (Bharatmala Pariyojana) के तहत बनने वाले सड़क नेटवर्क वाहनों की तेज आवाजाही और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को बढ़ावा देना मुख्या उद्देश्य है।

मध्य प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने नर्मदा एक्सप्रेस-वे के अलाइनमेंट रिपोर्ट देखकर, इसे क्लीनचिट दे दी है। अब अधिकारी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की हामी का इस्तजार कर रहे हैं। MP CM चौहान की हामी मिलते ही आगे की कार्यवाही की जाएगी और फिर सड़क के निर्माण का काम चालु होगा।

सब कुछ ठीक रहा तोह नर्मदा एक्सप्रेस वे मध्यप्रदेश की सबसे लंबी सड़क होने वाली है। इसके अंतर्गत लगभग मध्यप्रदेश के 12 शहरों को सीधा जोड़ा जायेगा। ये हाईवे यमुना एक्सप्रेस वे से 4 गुना बड़ा होने वाला है। इस वजह से हरदा को खंडवा और होशंगबाद से जोड़ने वाली सड़क 6 लेन हो जाएगी। यहाँ के लोगो को परिवहन के साथ साथ व्यवसाय और कमाई में भी फायदा होगा।

भारतमाला रसद लागत को कम करेगा, निर्यात और निवेश को प्रभावित करेगा। पूरे भारत में बढ़ती आर्थिक गतिविधियों के परिणामस्वरूप इस परियोजना से लगभग 22 मिलियन नौकरियां और 100 मिलियन मानव दिवस रोजगार निर्मित होने की उम्मीद है। आने वाले समय में अन्न रोजगार और व्यवसाय बनने की बात कही जा रही है।

ENN Team
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
https://eknumbernews.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!