मिट्टी से बने बर्तनों के व्यापार से एक दसवीं फेल छात्र करोड़पति बन गया, जाने सफलता की पूरी कहानी

0
1113
Mansukh Prajapati
Earthen Pot Ware business can make money and give good earning to you. A Potter Mansukh Prajapati became rich by clay products.

Delhi: शिक्षा एक स्वस्थ समाज का निर्माण करता है। साथ ही शिक्षा ही वह हथियार है, जो व्यक्ति को कौशल और ज्ञानवर्धक बनाता है जिससे वह नौकरी करके या फिर अपना व्यापार करके अपना जीवन यापन कर सके। अक्सर पढ़ा लिखा आदमी सरकारी नौकरी की तरफ दौड़ता है। एक बैल एजुकेटेड युवा या युवती अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद अच्छी नौकरी करके अपना जीवन सेट करना चाहती है।

देखा जाए तो देश का हर युवा चाहता है कि वह अपना जीवन अच्छी तरह बता सके, परंतु कई बार लोग अच्छी शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते तो ऐसा नहीं है कि अच्छी शिक्षा ना मिलने की वजह से वह एक सफल आदमी नहीं बन सकता। किसी महान व्यक्ति ने कहा है कि किताबी ज्ञान से ज्यादा व्यवहारिक ज्ञान होना बेहद जरूरी है।

यदि व्यवहारिक ज्ञान होगा तो व्यक्ति कम शिक्षा में भी बेहतर से बेहतर काम कर सकता है। ऐसा ही कुछ एक मिट्टी के बर्तन (Earthen Pot Ware) बनाने वाले व्यक्ति ने कर दिखाया। आपको बताते हैं यह युवा दसवीं कक्षा में फेल (10th fail) होने के बाद आज करोड़ों का व्यापारी है, तो आइए जाने इस व्यक्ति के बारे में।

एक कुम्हार की कहानी

दोस्तों आज हम एक ऐसे युवा की बात कर रहे हैं, जिसने अपने जीवन की परीक्षा को इतनी बेहतरीन तरीके से उत्तीर्ण की है कि लोग उसकी सफलता को देखकर आश्चर्य में पड़ गए। जी हां दोस्तों हम बात कर रहे हैं मनसुख प्रजापति की। आज के समय में मनमुख प्रजापति करोड़ों के व्यापारी हैं। उनके पास आज किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं है।

एक समय था जब मनसुख की परिस्थितियां एकदम विपरीत थी। आर्थिक परेशानियों के साथ-साथ कई तरह की परेशानियों से जूझ रहे थे। उनके लिए सबसे विकट परिस्थिति तब आई जब कक्षा दसवीं में फेल हो गए और स्कूल से निकाले गए। इस समय उन्होंने अपने परिवार के व्यापार को अहमियत दी। मनसुख कुंभार परिवार से संबंध रखते हैं, इसीलिए उन्होंने अपने खानदानी व्यापार को आगे बढ़ाने की सोची और वे सफल हो गए।

बचपन में ही सीख लिया था यह

करोड़ों की व्यापार के मालिक मनसुख प्रजापति (Mansukh Prajapati) बचपन से ही अपने पिता से अपने खानदानी व्यापार को सीख चुके थे, इसीलिए उन्हें ज्यादा कठिनाइयों का सामना नहीं करना पड़ा। दोस्तों लोगों को अपने अंदर की कला की पहचान करना बेहद जरूरी है, कई बार लोग अपने कला को पहचाने बिना अन्य क्षेत्रों में काम करके अपने समय को खराब करते हैं।

मनसुख (Mansukh) ने जब देखा कि वह शिक्षा के क्षेत्र में अच्छे नहीं है, तो उन्होंने अपने खानदानी व्यापार में निपुणता दिखाई और आज बे इतने सफल व्यापारी बन गए हैं कि लोग भी उनकी कला और उनको देखकर भो चक्के हो जाते हैं।

वैसे देखा जाए तो हर कुम्हार (Potter) मिट्टी के बर्तनों का निर्माण करता है, परंतु मनसुख ने इन मिट्टी के बर्तनों को साधारण नहीं रहने दिया, बल्कि बर्तनों में तरह-तरह का इनोवेशन करके कुछ इस प्रकार के बर्तन बनाएं कि लोग देखकर हैरान रह गए

मिट्टी के बर्तन स्वास्थ्यवर्धक साबित होते हैं

दोस्तो हम जानते है की हमारा शरीर पंच तत्वों से मिलकर बना है और ऐसा माना जाता है की मिट्टी में सभी प्रकार के खनिज और ज़रूरी तत्व पाए जाते है। यदि मिट्टी के बर्तन (Clay products) का लगातार उपयोग किया जाए, तो लोगो के शरीर में सभी जरूरी तत्व पहुंचने लगते है।

आधुनिक समय के साथ वैज्ञानिक आविष्कार ने अपने पैर कुछ इस प्रकार फैलाए है की व्यक्ति पूरी तरह आधुनिक संसाधनों पर निर्भर हो गया है। लोग लगातार फ्रिज का इस्तेमाल करते है, फ्रीज के ढेर सारे नुकसान है। सबसे पहले फीज से निकलने वाली गैस बतावरण में प्रदूषण फैलती है और फ्रिज में रखे प्रोडक्ट समय के साथ अपने जरूरी पोषक तत्व खो देते है।

यदि हम गर्मी के समय मिट्टी से बने घड़े का इस्तेमाल करते है, तो घड़े के पानी के अपने फायदे होते है। अब मार्केट में मिट्टी से बने कुकवेयर और पानी की बोतल जेसे प्रोडक्ट मिल रहे है, साथ ही प्रोडक्ट की मांग भी मार्केट में बढ़ते जा रही है।

मिट्टी के बर्तनों से किए ऐसे इनोवेशन

दोस्तों मनसुख प्रजापति ने अपने खानदानी व्यापार को कुछ इस प्रकार आगे बढ़ाया की नए नए इनोवेशन के कारण बाजारों और हर घरों में मिट्टी से बने बर्तनों की मांग बढ़ती जा रही है। जी हां दोस्तों मनसुख प्रजापति ने बिना बिजली और बिना हानिकारक गैस के मिट्टी से बने फ्रिज (Mitti Cool) का निर्माण किया, जो नेचुरल तरीके से खाद्य पदार्थों की सुरक्षा करता है।

दोस्तों अक्सर घर की डाइनिंग टेबल पर जर्मन और तरह-तरह की धातुओं का इस्तेमाल कर बनाए गए सुंदर-सुंदर बर्तनों का इस्तेमाल हो रहा है। परंतु बाजारों में मिट्टी से बने बर्तनों को भी एक सुंदर आकार और डिजाइन देकर डाइनिंग टेबल में रखने लायक बना दिया गया है। दोस्तों मनसुख प्रजापति ने मिट्टी से बने हुए बर्तनों को बेहद खास तरीके से बनाया है, जिस वजह से यह व्यापार उनका करोड़ों में पहुंच गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here