अब टमाटर लाल के अलावा बैंगनी रंग के भी दिखेंगे, इस खास टमाटर की पूरी डिटेल जानिये

0
1604
purple tomato
Know tomatoes will appear in purple instead of red colour. All about specialty of purple tomato. Its also called Blue tomato.

Delhi: लाल लाल स्‍वादिष्‍ट टमाटर तो हम सभी ने खाये है। कभी भी ऐसी कोई सब्‍जी या फिर ब्रेकफास्‍ट नहीं होता, जिसमें टमाटर ना इस्‍तेमाल किया जाता हो। इससे हमारे व्‍यंजन में एक अलग ही स्‍वाद तथा कलर आता है। सब्‍जी के राजा के तौर पर भी हम इसे ले सकते है।

लोग इसे सलाद के रूप में खाना भी बहुत पसंद करते है। परन्‍तु अगर हम आपसे कहे कि लाल नही बल्‍कि बैगनी रंग का टमाटर (Purple Tomato) आपको खाना चाहिए। तो आप क्‍या कहेंगे। जी हॉं अब आप लाल नहीं, बल्‍कि बैंगनी रंग के टमाटर भी बाजार से खरीद पाएंगे और इसका इस्‍मेमाल अपने खाने में कर पाएंगे।

अमेरिका के एग्रीकल्‍चर डिपाटमेंट ने टमाटर कि नई किस्‍म खोजी

खबर मिली है कि 14 साल रिसर्च करने के बाद मे अमेरिका (America) के एग्रीकल्‍चर डिपार्टमेंट ने टमाटर की खेती के लिये एक ऐसी अनुवांशिक किस्‍म को मंजूरी दे दी है। जो की सामान्‍य दिखने वाले टमाटर से बिल्‍कुल ही अलग है। यह टमाटर लाल नहीं, बल्‍कि बैगनी रंग (Purple Colour) का होगा। आपको बता दे कि इस बीज को नॉरफॉंक प्‍लांट साइंसेज तैयार करेगी। खबर है कि इन टमाटर के बीजो की बिक्री अगले साल 2023 तक मार्केट में होने लगेगी।

बैगनी टमाटर में होगा बहुत अधिक मात्रा में एंथोसायनिन

आपको बता दे कि इन बैगनी टमाटरों में एंथोसायनिन (Anthocyanin) उपस्थित होगा। एक रिपोर्ट में यह बताया गया है कि इन बैगनी टमाटरों के 100 ग्राम वजन पर पूरे 500 मिलीग्राम का एंथोसायनिन होता है।

जिससे स्‍पस्‍ट है कि इन बैंगनी टमाटरों (Blue Tomato) में उच्‍च मात्रा में एंथोसायनिन एंटीऑक्‍सीडेंट होगा। वह टमाटर जो हम इस्‍तेमाल करते है वह लाल रंग के होते है। इन टमाटर को जंगली प्रकार का टमाटर कहते है। इसमें एंथोसायनिन की कोई भी उपस्थिति अब तक ज्ञात नहीं है।

अन्‍य खाद्य पदार्थ में भी होता है एंथोसायनिन

एंथोसानिन बहुत से ऐसे खाद्य पदार्थ होते है जिसमें पाया जाता है। कहते है की किसी भी भोजन का जो बैगनी रंग होता है। वह एंथोसायनिन के कारण होता है। एंथोसायनिन जिन खाद्य पदार्थ में होता है उनके नाम लाल गोभी तथा ब्‍लू बेरी है। एंथोसायनिन नाम का एंटीऑक्‍सीडेंट दिल तथा डायबिटीज की बीमारी को कम करने में बहुत ही सहायक होता है। 

स्‍वास्‍थ्‍य के लिये बहुत ही गुणकारी है यह टमाटर 

यूएसडी ने यह दावा किया है कि जो भी खाद्य कि किस्‍म संसोधित होती है। उसमें रोगजनक के जोखिम बहुत ही कम होते है। इसलिए यह संसोघित बैगनी टमाटर हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिये बहुत ही गुणकारी होगा।

संसोधित जो भी पौधे होते है, वह जीवाणु जोखिम को कम कर देते है। यह बैगनी टमाटर की किस्‍म जो 7 सीपीआर है 340 विनिमय के अंतर्गत नहीं आता है। इसलिए इसे अभी सिर्फ देश अमेरिका में ही लगाया जायेगा। इसके अलावा इन बीजो को उगाने के लिये यूएसडीए की भी मंजूरी लेनी आवश्‍यक होगी। लेकिन अब धीरे धीरे यह कड़ाई कम होती जा रही है।

ऐसी खबर है कि धीरे धीरे इससे संबंधित नियमों में ढील दी जा रही है। अब इसके उत्‍पादन के लिये कोई भी नियम लागू नही किया जाता है। इस किस्‍म को अब पूरे अमेरिका देश में ही लगाया जा रहा है।

विपणन के यह है नियम

हालांकि इन नये टमाटर कि बीज के विपणन के लिये काफी जांचों से गुजारा जायेगा। इसके विपणन के लिये इसके बीजो को बाजार में बेचने के लिये खुले बाजार को चूज करना होगा। तथा यह भी आवश्‍यक होगा कि इसे बेचने के बाद में घरेलू उत्‍पादको का रिएक्‍शन नोट किया जाये। इसके बाद ही इसको दूसरे देश में उगाने की अनु‍मति प्रदान की जायेगी व इसका मार्केट में विपणन किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here