3000 साल पुराने सोने के खजाने के एलियन कनेक्शन से वैज्ञानिक हैरान, खुलासे से नए तथ्य उजागर

0
1513
Treasure of Villena
3000-year-old Treasure of Villena contains two pieces made with iron from ‘beyond planet Earth’. Spain treasure linked Alien connection.

Delhi: इस दुनियां में कई जगहों पर ख़ज़ाने मिलते आएं है और अभी तोह कई जगहों पर कई खजाने मिलने बाकी है। बहुत सी जगहों पर जो प्राचीन खजाने मिले हैं, वो अपने आप में बहुत से रहस्य समेटे हुए हैं। अब इस देश में मिले खजाने का दूसरे गृह और एलियन से तार (Alien Connection) मिल रहा है। यह नया मामला पूरी दुनिया को चौका रहा हैं।

विदेशी मीडिया में आ रही खबरों से मुताबिक यूरोप में एक देश स्पेन (Spain) में खोजे गए कांस्य युग के सबसे बड़े सोने के खजाने में से एक “विलेना के खजाने” (Treasure Of VIllena) को लेकर चौकाने वाली खबर आई है। इस खजाने में सोने, चांदी, लोहे और एम्बर से बनी 59 बेशकीमती चीज़ें शामिल हैं।

अब इस खजाने के हाल ही में हुए नए विश्लेषण में पता चला है कि इस खजाने में मिली धातु पृथ्वी से बाहर की हैं। मतलब ये धातु हमारी इस पूरी धरती पर मिलती ही नहीं हैं। आपको बता दें की ट्रैबजोस डी प्रीहिस्टोरिया जर्नल में आई एक खबर के अनुसार, नए शोध में कहा गया है कि जो खजाना यहाँ मिला था उसमे दो कलाकृतियां, उस धातु का उपयोग करके बनाई गई थीं, जो करीब 10 लाख साल पहले हमारे ग्रह से टकराई एक उल्कापिंड से आई थी।

विदेशी मीडिया में आई खबर के अनुसार, इस विश्लेषण में लोहे के दो टुकड़ों पर गहन शोध किया गया, जो की एक खोखला C आकार का कंगन सोने की चादर चढ़ा हुआ आ था और एक खुला कंगन, इन दोनों का काल 1,400 से 1,200 ईसा पूर्व (1400-1200 BC) के बीच का पाया गया। अब सोचने वाली बात रह है की यह वक्त लौह युग शुरू होने से पहले का था। मतलब पुराने दावे फ़ैल होने की राह पर हैं।

जानकारी हो की शोधकर्ताओं ने इस अध्ययन में धातु पर मास स्पेक्ट्रोमेट्री का इस्तेमाल किया और देखा कि लौह-निकल मिश्र धातु के निशान उल्कापिंड लोहे में पाए गए निशानों के बराबर थे। मिली जानकारी केअनुसार, तांबे-आधारित धातु विज्ञान की तुलना में लोहे के काम में एक पूरी तरह से अलग तलक तकनीक का इस्तेमाल किया जाता था। मतलब जिस धातु का उपयोग उस समय सोने और चांदी जैसी उत्तम धातुओं के लिए किया जाता था।

उस काल में जिन भी लोगों ने उल्कापिंडीय लोहे के साथ काम किया, उन लोगो ने नई तकनीक का आविष्कार किया था। ये भी हो सकता है की वे लोग हमारी धरती के इंसान भी ना हो और दूसरे गृह से आये परग्रही हों। या भी उस समय के इंसानों ने भी एलियन धातु की खोज कर दी हो। अब जो भी हो, यह खोज का विषय है।

शोधकर्ताओं ने बढ़ी खोज और रिसर्च के बाद दावा किया कि ये आइबेरियन प्रायद्वीप में पाए जाने वाले पहले और सबसे पुराने उल्कापिंड हैं, परन्तु वे अभी तक इसकी पुष्टि नहीं कर सके हैं कि ये चीज़ें किसने बनाईं। अब ये एक बड़ा सवाल खड़ा करता है। विदेशी मीडिया में इसे एलियन धातु (Alien Metal) खा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here