Thursday, April 9, 2020
Home > Video > कमलनाथ के मंत्री जीतू पटवारी अकड़ दिखाने कर्नाकट पहुंचे, पुलिस ने बैगन भरता बना दिया: Video

कमलनाथ के मंत्री जीतू पटवारी अकड़ दिखाने कर्नाकट पहुंचे, पुलिस ने बैगन भरता बना दिया: Video

Jitu Patwari on Police
Spread the love

Image And News Credits: ANI

मध्यप्रदेश का सियासी संकट अभी थमा नहीं है, बल्कि अभी तो शुरुआत हुई है। मध्यप्रदेश के बागी विधायकों से मिलने बेंगलुरु पहुंचे कमलनाथ सरकार के शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी और लाखन सिंह को कर्नाटक पुलिस ने गुरुवार को हिरासत में ले लिया है। बाद में दोनों कांग्रेस नेताओ को कर्णाटक पुलिस ने छोड़ दिया। आपको बता दें की कर्णाटक के रिसॉर्ट में जीतू पटवारी और लाखन सिंह की पुलिस अधिकारियों से झूमा झपटी हुई थी।

दोनों कांग्रेस नेता यहां ज्योतिरादित्य सिंधिया गुट के विधायकों से मिलने पहुंचे थे। जीतू पटवारी ने हिरासत से छूटने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि क्या दोस्तों से मिलना गुनाह है। दूसरी तरफ जबलपुर मध्यप्रदेश से कांग्रेस सांसद विवेक तन्खा ने आरोप लगाया है कि मंत्री जीतू पटवारी के साथ मार-पीट की गई।

मध्यप्रदेश मंत्री जीतू पटवारी ने कहा की कांग्रेस के कुछ विधायक हमसे मिलना चाहते थे। यहां पर मेरे चचेरे भाई मनोज चौधरी को भी रखा गया है। मैं अपने भाई से यहां मिलने आया था, किन्तु हमें रोका गया। हम अपने दोस्तों से मिलना चाहते हैं तो क्या यह गुनाह है। क्यों नहीं मिलने दिया जा रहा है। भला हो शिवकुमारजी का, उन्होंने हमें पुलिस की गिरफ्तारी से बचाया।

जीतू पटवारी ने कहा की इन विधायकों ने 15 साल तक संघर्ष किया हैं। उन पर भावनात्मक दबाव डालकर फोन ले लिए गए और बंद करवा दिए गए। भाजपा लोकतंत्र के साथ खिलवाड़ कर रही है। सिंधिया राज्यसभा जाएंगे, मंत्री बन जाएंगे, लेकिन इस्तीफा देने वाले विधायकों का क्या होगा मेरे साथी विधायकों की फीलिंग केवल मैं समझ सकता हूं।

Karnataka: Congress leader Jitu Patwari was taken into preventive custody by police, from outside Embassy Boulevard in Bengaluru where he had a scuffle with a police personnel. He had gone to Embassy Boulevard to meet Madhya Pradesh rebel MLAs

आपको बता दें की मनोज चौधरी के पिता नारायण चौधरी कांग्रेस नेता रहे हैं। नारायण चौधरी ने 2003 में कांग्रेस के टिकट पर खातेगांव से विधानसभा चुनाव लड़ा था। 2008 में उन्हें टिकट नहीं मिला, तो वह निर्दलीय चुनाव लड़े थे। इसके बाद उनके बेटे मनोज चौधरी कांग्रेस में शामिल हो गए। 2018 में हाटपिपल्या से विधानसभा चुनाव में भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के बेटे दीपक जोशी को हराकर पहली बार चुनाव जीते थे।

जिस वक्त पटवारी बागी कांग्रेसी नेताओं के साथ मिलने का प्रयास कर रहे थे उस समय उनकी पुलिस के साथ हाथापाई हो गई। वीडियो में यह साफ देखा जा सकता है कि जीतू पटवारी की पुलिस के साथ हाथापाई हो रही है। जीतू पटवारी ने कांग्रेस पार्टी की सीनियर नेता और कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डीके शिवकुमार से बेंगलुरु स्थित उनके आवास पर जाकर मुलाकात की।

Madhya Pradesh Minister Jitu Patwari not allowed to meet MLAs held in Bangalore. Karnataka: Scuffle broke out between Congress leader Jitu Patwari and a police personnel, while Patwari was trying to meet the Madhya Pradesh rebel MLAs at Embassy Boulevard in Bengaluru.

उधर कांग्रेस नेता विवेक तन्खा ने आरोप लगाया है कि जीतू पटवारी के साथ बेंगलुरु में ठहरे विधायक मनोज चौधरी के पिता भी थे। मनोज चौधरी को अपने पिता से भी मिलने नहीं दिया गया। चौधरी पर भाजपा ने दबाव बनाया हुआ है। हम इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट जाएंगे। विवेक तन्खा ने कहा कि कर्नाकट पुलिस भाजपा के दबाव में काम कर रही है। जीतू पटवारी 9-10 विधायकों को भाजपा का साथ छोड़ने पर राजी कर चुके थे। परन्तु, भाजपा के दबाव में काम कर रही पुलिस ने मध्यप्रदेश के कांग्रेस मंत्रियों के साथ बदसलूकी की और उन्हें हिरासत में ले लिया।

Facebook Comments

Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *