Home > Uncategorized > विकास दुबे के अंत के बाद इन्होने योगी आदित्यनाथ को रूद्र अवतार बताया और कही यह बात

विकास दुबे के अंत के बाद इन्होने योगी आदित्यनाथ को रूद्र अवतार बताया और कही यह बात

Yogi Adityanath Rudra Avatar

Presentation Image

Kanpur/Uttar Pradesh: कानपुर के पास चौबेपुर में 8 पुलिस के जवानों के पतन लेने वाला विकास दुबे (Vikas Dubey) का किस्सा आज समाप्त हो गया। अब खबर आ रही है की उसके अंतिम संस्कार का सीन उलझ गया है। विकास दुबे के पिता राम कुमार ने बेटे के अंतिम संस्कार में शामिल होने से मना कर दिया है। राम कुमार (Ram Kumar) ने एक मीडियाकर्मी को कहा कि जो हुआ अच्छा हुआ। पुलिस ने सही किया। विकास दुबे की पत्नी ऋचा (Richa Dubey) ने पहले उसे लेने से मना कर दिया था।

इसके बाद कानपूर पुलिस ने विकास दुबे की मां सरला देवी (Sarla Devi) से संपर्क किया, तो उन्होंने भी साफ़ मना कर दिया। आपको बता दे की उत्तर प्रदेश की पुलिस की एसटीएफ टीम की ओर से जारी एक प्रेस नोट में साफ कहा गया है कि विकास दुबे को ले जा रही गाड़ी के सामने अचानक मवेशियों का एक झुंड आ गया था। इस कारण गाडी अनियंत्रित होकर पलट गई। उसके बाद यह घटनाक्रम घटित हुआ। पुलिस ने आत्मरक्षा में यह कदम उठाया।

इस पर वीरगति को प्राप्त हुए एक पुलिसवाले के रिश्तेदार कमलकांत ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की काफी तारीफ की। उन्होंने CM योगी को रुद्र अवतार बता दिया है। आपको बता दे की कमलकांत शहीद सीओ देवेंद्र कुमार मिश्रा के रिश्तेदार हैं। उन्होंने विकास दुबे को धराशाही करने के लिए मुख्यामंत्री योगी को क्रेडिट देते हुए उनकी प्रसंशा की। उन्होंने कहा की ‘मैं भी योगी की तरह एक संन्यासी हूं। समाज का दर्द वे समझते हैं।’ कमलकांत ने कहा, ‘योगी रुद्र अवतार है।’ उन्होंने योगी की आगे भी तारीफ की।

कमलकांत दुबे ने बताया की विकास दुबे की समाप्ति के बाद भी उनके परिवार को सिर्फ 10 प्रतिशत संतुष्टि है। अब विकास को शरण देने वालों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। आपको बता दे की विकास दुबे 9 जुलाई को सुबह फरीदाबाद से बाघकर पुलिस से छिपता हुआ उज्जैन के महाकाल मंदिर पहुंचा गया था। इसके बाद इस 5 लाख के इनामी विकास दुबे को मंदिर के सुरक्षाकर्मियों ने पहचान लिया और रिक लिया था। उज्जैन पुलिस ने उसे अपने कब्ज़े में लिया था।

विकास दुबे के धराशाही होने के बाद कानपुर के बिकरू गांव के लोगों ने एक दूसरे को मिठाई बांटी। उनका कहना है कि पूरा क्षेत्र आज बहुत खुश और उत्साहित है। चौबेपुर गांव के स्थानीय लोगों ने बताया कि वे ऐसा फील कर रहे हैं कि वे आज आजाद है। इससे पहले कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि विकास दुबे को ला रहे काफिले के पीछे कुछ गाड़ियां लगी हुई थीं।

ये लगातार पुलिस के काफिले को फॉलो कर रही थीं। जिसकी वजह से गाड़ी तेज़ चलने की कोशिश की गई। बारिश तेज़ थी और गाड़ी के सामने अचानक मवेशियों का एक झुंड आ गया, इसलिए गाड़ी पलट गई। फिर इस मौके का फायदा उठाकर विकास दुबे ने करकट की और हमारे एसटीएफ जवान इस कार्यवाही के लिए विवश हो गए।

Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!