Wednesday, April 1, 2020
Home > Jabalpur > कांग्रेस नेता सोनिया-राहुल गाँधी को नेतृत्व से हटाना चाहते हैं, MLA ने एक नंबर न्यूज़ को बताया था

कांग्रेस नेता सोनिया-राहुल गाँधी को नेतृत्व से हटाना चाहते हैं, MLA ने एक नंबर न्यूज़ को बताया था

Spread the love

Jabalpur, Madhya Pradesh: कांग्रेस पार्टी (Congress Party) आज के समय में अपने सबसे बुरे दौर से गुज़र रही है। कर्नाटक के बाद अब मध्‍यप्रदेश में भी असफल होता राहुल गांधी और सोनिया गांधी पूरी कांग्रेस पार्टी को खटकने लगे हैं। कमलनाथ सरकार (Kamalnath Government) के अस्तित्‍व पर संकट के बादल छाए हुए हैं। कर्नाटक में सरकार गंवाकर सीख नहीं लेने वाली कांग्रेस पार्टी का शीर्ष नेतृत्‍व दोबारा से मध्‍यप्रदेश में असफल होता देखे दे रहा है।

मध्‍य प्रदेश कांग्रेस (Madhya Pradesh Congress) के वरिष्‍ठ नेता ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia ) ने पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया है। एक तो 15 साल बाद मध्‍यप्रदेश में कांग्रेस पार्टी सत्‍ता में आई और कांग्रेस पार्टी (Congress Party) का शीर्ष नेतृत्‍व पिछले कई दिनों से चले आ रहे इस संकट को संभालने में बुरी तरह से फ़ैल हुआ।

ज्‍योतिरादित्‍य (Jyotiraditya Scindia) को ऐसा लगा था कांग्रेस पार्टी मध्यप्रदेश कि सत्ता में आए है तो उन्हें भी कोई अच्छा पद मिलेगी, लेकिन सत्ता में आते ही सिंधिया दरकिनार कर दिए गए। कमलनाथ की सरकार में उनकी किसी बात को तवज्जो नहीं मिली। आरोप है कि दिग्विजय सिंह और कमलनाथ की जोड़ी ने पूरे समय सिंधिया समर्थक मंत्रियों को भी परेशान किया और उनके कोई भी काम नहीं होने दिए।

Jyotiraditya Scindia Twitter Bio
Demo Image

इसी उपेक्षा के कारण कई बार सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने अपनी नाराजी ज़ाहिर की। सिंधिया ने सड़क पर उतरने की चेतावनी तक दी। सिंधिया समर्थकों ने मांग की कि उनके नेता को प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष (Madhya Pradesh Congress President) का पद दिया जाए, लेकिन इस पर कांग्रेस आलाकमान राज़ी नहीं हुआ।

ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की इस उपेक्षा पर कांग्रेस की कार्यकारी अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गाँधी ने कोई ध्‍यान नहीं दिया। बताया जा रहा है कि ज्‍योतिरादित्‍य सोनिया गांधी से मिलकर अपना पक्ष रखना चाह रहे थे, लेकिन सिंधिया को सोनिया गाँधी ने टाइम ही नहीं दिया। ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के बागी रूप से मध्‍य प्रदेश सरकार पर संकट को देखते हुए सोनिया गाँधी (Sonia Gandhi) ने कमलनाथ को समाधान के जरुरी कदम उठाने के आदेश दिए।

Jyotiraditya Scindia News
Demo Image

कांग्रेस की ओर से संकेत यह भी दिया गया कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को राज्यसभा उम्मीदवार बनाने में हाईकमान को कोई दिक्कत नहीं है। सोनिया गांधी के इस संकेत के बाद भी सिंधिया चुप रहे और अचानक उन्‍होंने सोमवार को पीएम मोदी से मुलाकात की। इसके बाद उनके बीजेपी (BJP) में आने की अटकलें तेज हो गईं।

Jyotiraditya Scindia Quits
Demo Image

यह कांग्रेस आलाकमान की विफलता (Congress Leadership Failure) है की सोनिया गांधी ने सिंधिया को मनाने में बहुत देर कर दी। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार आलाकमान ने कमलनाथ से निर्देश दिया है की राज्यसभा चुनाव को लेकर शुरू हुआ मौजूदा संकट प्रदेश के तीनों वरिष्ठ नेताओं के आपसी अविश्वास का नतीजा है। अब इस मुसीबत का इलाज़ निकालने की जिम्मेदारी भी खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) की है। जिस दिग्विजय सिंह को यह जिम्‍मेदारी दी गई, उन्‍होंने सिंधिया पर तंज कसा कि उनको स्‍वाइन फ्लू हो गया है। ऐसे में अब सिंधिया आगे दिग्गी राजा की नहीं सुनेंगे।

पहले मध्य प्रदेश में राज्यसभा की दो सीटें कांग्रेस को मिलनी तय थीं। इसमें एक पर दिग्विजय की उम्मीदवारी इस लिहाज से तय मानी जा रही थी कि कमलनाथ और उनकी गोलबंदी है। इन दोनों की गोलबंदी की वजह से सिंधिया को दूसरी सीट पर अपनी दावेदारी पुख्ता नजर नहीं आ रही थी। सिंधिया के इस्‍तीफे की वजह भी यही मानी जा रही है।

अब कांग्रेस के कई छोटे और बड़े नेता कांग्रेस आलाकमान मतलब सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी से खिन्न देखे दे रहे हैं। “एक नंबर न्यूज़” के पत्रकार को मध्य प्रदेश के एक कांग्रेस विधायक ने बताया था की पूरी कांग्रेस पार्टी में अनेक नेता राहुल गाँधी को पसंद नहीं करते हैं और कुछ चाटुकार नेता राहुल गाँधी को चने के झाड़ में चढ़ाये रहते है ताकि उनका उल्लू सीधा हो सके।

एक नंबर न्यूज़ (Ek Number News) के संपादक नितिन चौरसिया और पत्रकारों समीर माहेश्वरी, चमन नाविक और परविंदर सिंह ने कांग्रेस नेताओ के पास जाकर और उनके विचार सुनकर और नोट करके यह बात पता लगाई की बहुत से कांग्रेस नेता अपने शीर्ष नेतृत्व से खुश नही है और उनके हिसाब से किसी समझदार और वरिष्ठ नेता को कांग्रेस का नेतृत्व संभालना चाहिए।

Facebook Comments

Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!