Wednesday, April 1, 2020
Home > India > सोनभद्र की सोने की पहाड़ी मे भयंकर साँपों का डेरा, यहाँ के दुर्लभ साँपों और परेशानी के बारे में जाने

सोनभद्र की सोने की पहाड़ी मे भयंकर साँपों का डेरा, यहाँ के दुर्लभ साँपों और परेशानी के बारे में जाने

Snakes in Sonbhadra
Spread the love

Presentation Image

सोनभद्र में मिले सोने के भंडार ने देश ही नही पूरी दुनिया को चौका दिया है। उत्तर प्रदेश का सोनभद्र जनपद अब तक पत्थर, मोरंग और कोयले के लिए जाना जाता था। अब जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया की टीम ने वर्षो अध्ययन और रिसर्च करके सोनभद्र (Sonbhadra) में भारी मात्रा में सोने का भंडार होने का पता लगाया है। यह सोने का भंडार लगभग 3 हजार टन से भी ज्यादा का बताया जा रहा है। मौजूदा कीमत के हिसाब से इतने सोने का मूल्य करीब 12 लाख करोड़ रुपये है।

मीडिया में आई खबर के अनुसार सोने की यह खदान सोनभद्र (Sonbhadra) के कोन थाना क्षेत्र के हरदी कोटा ग्राम पंचायत में पाई गई है। अब ई-टेंडरिंग के माध्यम से सोने की खदानों की नीलामी के लिए UP शासन ने 7 मेंबर टीम का गठन भी कर दिया है। हालांकि जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया और भूतत्व एवं खनिज विभाग संयुक्त रूप से जीओ टैगिंग का कार्य कर रहे हैं। इससे अन्न जानकारी मिलने के आसार है।

पुराने समय में भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था। अब उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले (Sonbhadra District UP) में मिले लगभग 12 लाख करोड़ रुपये की कीमत का 3350 टन सोने का भण्डार मिला है। एक रिपोर्ट के अनुसार, हालिया समय में भारत के पास लगभग 626 टन सोने का भंडार है। सोनभद्र जिले में मिला सोना इससे 5 गुना अधिक है। ऐसे में यह बात सामने आ रही है की सोने के रिजर्व को लेकर भारत पूरी दुनिया के Top-3 देशों में शामिल हो सकता है।

Goldmine sonbhadra up
Demo Image

पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा सोने का भंडार अमेरिका के पास है। उसके पास 8133 टन सोना है, जो उसके कुल विदेशी मुद्रा भंडार का 76.9% है। दूसरे स्थान पर जर्मनी का नाम आता है। जर्मनी के पास कुल 3366.8 टन सोना है। गोल्ड रिजर्व में तीसरे स्थान पर इटली है। इसके पास 2451.8 टन सोना है, जो कुल विदेशी मुद्रा भंडार का 68.4% है। अब इटली को पछाड़ते हुए भारत तीसरा स्थान ग्रहण कर सकता है।

भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI) के अनुसार, सोनभद्र की पहाड़ियों में तीन हजार टन से अधिक सोना का भंडार है। सर्वे के दौरान Sonbhadra की पहाड़ी में सोने के अलावा, लोहा और भारी मात्रा में दूसरे खनिज भी दबे हैं। ऐसे में अब उत्तर प्रदेश के साथ साथ भारत सरकार की भी बल्ले बल्ले होने वाली है। सोने की यह चट्टान एक किलोमीटर से ज्यादा लंबी और 18 मीटर गहरी है। इस चट्टान की चौड़ाई 15.15 मीटर है।

सोनभद्र की पहाड़ी पर दुर्लभ का भी भंडार है

वैज्ञानिकों के अनुसार सोनभद्र के सोन पहाड़ी क्षेत्र में पाए जाने वाली सांप (Snakes) की तीन प्रजातियां बहुत अधिक जहरीले हैं, अगर ये किसी को काट ले, तो उसे बचाना संभव नहीं है। सोनभद्र जिले के जुगल थाना क्षेत्र के सोन पहाड़ी के साथी दक्षिणांचल के दुद्धी तहसील के महोली विंढमगंज चोपन ब्लाक के कोन क्षेत्र में काफी संख्या में सांप मौजद हैं।

Gold Mine sonbhadra up

आपको बता दे की यहाँ पाए जाने वाले कोबरा और करैत के जहर न्यूरोटॉक्सिन होते हैं, स्नायु तंत्र को शून्य कर देते हैं और मनुष्य की मौत हो जाती है। कोबरा के काटे स्थान पर सूजन हो जाती है और करैत का दंश देखने से पता नहीं चलता है।

पूरी दिनिया मे सबसे जहरीले सांपों में जाने जाने वाले रसेल वाइपर की प्रजाति उत्तर प्रदेश के एकमात्र सोनभद्र जिले में ही पाई जाती है। पिछले दिनों सोनभद्र के पकरी गांव में हवाई पट्टी पर रसेल वाइपर को देखा गया था। रसेल वाइपर इस जिले के बभनी म्योरपुर व राबर्ट्सगंज में देखा गया है। इतना ही नही यह साँप दक्षिणांचल में भी यह नजर आया था।

सोनभद्र के चोपन ब्लाक के सोन पहाड़ी में सोने के भंडार मिलने के बाद इसकी जियो टैगिंग कराकर ई टेंडरिंग की प्रक्रिया शुरू की तैयारी है। ऐसे में विश्व के सबसे जहरीले सांपों की प्रजातियों के बसेरे पर संकट मंडराना तय है। ऐसे में इतने साँपों के होने से अभी खोज़ और सोने के खनन मे कुछ परेशानी आने का अनुमान है।

Gold Mine sonbhadra up

सोने के अलावा कई अन्य धातुओं की खदानें भी मिली हैं। इन खदानों को कई ब्लॉक्स में विभाजित किया गया है, जिनमें सोन पहाड़ी ब्लॉक में सोने की खदान पाई गई है। इस खदान में लगभग 2993.26 टन सोने का भंडार होने की उम्मीद है। सोनभद्र जिले के खनन अधिकारी केके रॉय ने मीडिया में बताया कि पनारी गांव के सोन पहाड़ी में 3 हजार टन (3350 Tonne), पड़रछ के हरदी में लगभग 650 टन सोने का भंडार मिला है।

ब्रिटिश राज के समय भी अंग्रेजों ने इस क्षेत्र में सोने की खान का पता लगाने की बहुत कोशिश की थी किन्तु उन्हें कुछ ना मिला था। भारत की गुलामी के वक़्त से शुरू हुई सोने के खान की खोज के कारण की इस पहाड़ी का नाम सोन पहाड़ी रखागया था, तब से लोग इसे सोन पहाड़ी के नाम से ही जानते हैं। अब इन पहाड़ियों (Sonbhadra Mountains) के भीतर 3000 टन के भी ज्यादा सोना मिलने से सोनभद्र पूरी दुनिया के लिए कौतुहल का विषय बन गया है।

सोनभद्र जिला खनिज संपदाओं से भरा है। यहां पहले से ही लगभग आधा दर्जन कोयले की खदानें चालू स्थिति में हैं। पत्थर और बालू की भी खदाने हैं। अब सोने, लोहे, पोटास और इंडालुसाइड की भी खदाने पाई गई हैं। जिले के अन्य क्षेत्रों में भी हवाई सर्वेक्षण के जरिए भूगर्भ में छिपे अन्य खनिज तत्वों की जानकारी ली जा रही है। संभावना जताई जा रही है कि यहां अभी सोना, कोयला और इंडालुसाइड की खदाने मिल सकती हैं।

Facebook Comments

Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!