Thursday, May 28, 2020
Home > India > तबलीगी जामत मरकज से इंडियन मुजाहिद्दीन आतंकी ‘यासीन भटकल’ के तार जुड़े हैं: खुलासा

तबलीगी जामत मरकज से इंडियन मुजाहिद्दीन आतंकी ‘यासीन भटकल’ के तार जुड़े हैं: खुलासा

Spread the love





पूरे देश में कोरोना महामारी का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है। दिल्ली के निजामुद्दीन (Nizamuddin Markaz) के तबलीगी जमात मरकज (Tablighi Jamaat Markaj) में 18 मार्च को हुए आयोजन में शामिल हुए 9 लोगों ने कोरोना वायरस को भारत के अंडमान तक पहुंचा दिया है। अंडमान में कोरोना वायरस के 10 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। इनमें से 9 दिल्ली के निजामुद्दीन (Nizamuddin) इलाके में स्थित तबलीगी जमात के मरकज से वापस लौटे थे। वहीं 10वीं कोरोना पॉजिटिव मरीज इनमें से एक की पत्नी है।

मीडिया में आई जानकारी के अनुसार अंडमान-निकोबार में अब तक हुए 99 सैंपलों की जांच में 10 पॉजिटिव केस मिले हैं। उन्होंने बताया कि इनमें से 9 लोग दिल्ली के निजामुद्दीन में आयोजित हुए तबलीगी जमात मरकज (Tablighi Jamat Matkaz) के आयोजन में शामिल होकर वापस अंडमान आए थे। जानकारी के अनुसार, 10वीं कोरोना संक्रमित महिला दिल्ली से वापस लौटे लोगों में से एक कोरोना मरीज की पत्नी है। ये सभी 9 लोग 24 मार्च को अलग-अलग फ्लाइट से अंडमान वापस आए थे। इस आयोजन में लगभग 3000 लोग शामिल हुए थे।



आपको बता दें की इस कार्यक्रम के बाद भी करीब 1600-1800 लोग दिल्ली स्थित मरकज में जमा थे। अब तक इस मरकज से 1200 लोगों को निकाला जा चुका है और बाकी लोगों को भी निकालने का काम जारी है। निकाले गए लोगों में से 24 लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। मरकज से निकाले गए लोगों में से 334 लोग अस्पताल में भर्ती हैं और बाकी के करीब 700 लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है।

मरकज की जिस 6 मंजिला इमारत में ये लोग जमा थे, वह हजरत निजामुद्दीन पुलिस थाने से बिल्कुल पास ही है। मतलब दिल्ली पुलिस के थाने के पास ही यह सब होता रहा, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। दिल्ली सरकार ने आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश भी दे दिए हैं।

Tablighi Markaj Jamat News

दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में तबलीगी जामत के एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल लोगों की कोरोना से जान जाने के बाद अब बिहार में भी एक ऐसे ही कार्यक्रम ने कोहराम मचा दिया है। करीब एक सप्ताह पहले पटना के कुर्जी इलाके में धार्मिक उपदेश देने पहुंचे 10 विदेशी उपदेशकों को पुलिस ने हिरासत में लिया था और उनकी जांच कराई थी।



आपको बता दें की इस इस्लामिक संगठन तबलीगी जामत मरकज से इंडियन मुजाहिद्दीन के सरगना आतंकी यासीन भटकल से जुड़े होने की बात भी सामने आई है। भारत में सुपर कॉप पुलिस अधिकारी रहे राकेश मरिया (Rakesh Maria) ने अपनी लिखी पुस्तक में इस बात का उल्लेख किया है। राकेश मरिया ने लिखा है की आतंकी यासीन भटकल (Yasin Bhatkal) के कुछ इस्लामिक संगठन से लिंक थी, जैसे की सिमी और तब्लीग़ी जमात। मतलब यह संगठन तब्लीग़ी जमात एक बहुत बड़े खतरे की दस्तक है।

पटना के दीघा थाना क्षेत्र में कुर्जी मोहल्ला स्थित एक मस्जिद से पुलिस ने पिछले हफ्ते सोमवार को 10 विदेशी धार्मिक उपदेशकों को हिरासत में लिया था। इसके अलावा अन्य दो भारतीयों को भी हिरासत में लेकर कोरोना जांच के लिए पटना के एम्स ले गई थी।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने तबलीगी जमात से जुड़े इंडोनेशिया के करीब 800 लोगों को ब्‍लैकलिस्‍ट करने का फैसला किया है। सूत्रों के मुताबिक वीजा नियमों के उल्‍लंघन के कारण उनको ब्लैकलिस्ट किया जाएगा। इसके अलावा अन्न 250 विदेशियों को ब्‍लै‍कलिस्‍ट करने के साथ ही उनका वीजा भी रद्द होगा। ये सभी दक्षिणी दिल्‍ली स्थित निजामुद्दीन इलाके में हाल में आयोजिक धार्मिक कार्यक्रम में शिरकत करने गए थे। इनमें से कई कोरोना वायरस संक्रमण के शिकार हुए और उन्‍होंने बाद में दूसरों की लाइफ को खतरे में डाल दिया।



उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एक मस्जिद में कई विदेशी नागरिकों के छिपे होने की जानकारी मिलने के बाद जिलाधिकारी, पुलिस कमिश्नर और एसीपी ने छापेमारी की। जानकारी के मुताबिक, इस मस्जिद में बीते 13 मार्च से कई विदेशी नागरिकों के रुके होने की जानकारी मिली थी। मस्जिद में मौजूद सभी देसी-विदेशी नागरिकों को आइसोलेशन में भेज दिया गया है और मस्जिद में ताला लगा दिया गया है।

सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के मरकज में यूपी के करीब 160 लोग शामिल हुए थे। पुलिस इन सभी की तलाश में जुटी है। जानकारी के मुताबिक, जमात में राजधानी लखनऊ के ये लोग शामिल हुए थे, लेकिन अभी इनकी लखनऊ वापसी की पुष्टि नहीं हुई है।

भारत में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। सोमवार शाम तक इसका संक्रमण 1217 लोगों तक फैल चुका था और खबर लिखे जाने तक 1253 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से 35 लोग प्राण गवा चुके है। अभी तक 102 लोग सही होकर घर जा चुके हैं। दुनिया भर में अब तक 7.80 लाख से भी अधिक लोग कोरोना वायरस संक्रमित हो चुके हैं और करीब 38 हजार लोग प्राण गवा चुके है।


Facebook Comments

Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!