Thursday, October 29, 2020
Home > India > जल्लाद बनके निर्भया के दोषियों को सूली चढाने यह आदमी आगे आया। जानें पूरा मामला

जल्लाद बनके निर्भया के दोषियों को सूली चढाने यह आदमी आगे आया। जानें पूरा मामला

Ravi Kumar Jallad
Spread the love

हैदराबाद में महिला डॉ की मृ’त्यु के बाद लोगो मे आक्रोश भरा हुआ। सभी के मन में बदले की भावना देखने को मिल रही है। कुछ साल पहले निर्भया कांड हुआ था, जिसमे अभी तक दोषियों को सजा नही दी गई है। अभी तक उनकी फांसी की तारीख तय नही की जा रही है।

इसके बाद अब हैदराबाद में भी दिल दहला देने वाली घटना देखने को मिली जिससे लोग बदले की भावना में दोषियों को फांसी की सजा देने के लिए आगे आ रहे है। निर्भया के दोषियों को अभी तक कड़ी सजा नही दी गई कारण है, इक बात और है की इस कार्य के लिए जल्लाद नही मिल रहे है।

जल्लाद ना मिलने की खबर सुनकर शिमला के सामाजिक कार्यकर्ता और सब्जी विक्रेता रवि कुमार ने इस बारे में राष्ट्रपति को खत लिखा है। जिसमे खत में उन्होंने राष्ट्रपति से कहा कि तिहाड़ जेल में जल्लाद ना होने के कारण मुझे जल्लाद की जगह पर पोस्ट देने की मांग की है।

जब मीडिया वालों ने उनसे सवाल किया कि आप ये चर्चित होने के लिए तो यह कदम नही उठा रहे है, इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि हम यह काम खुशी से कर रहे है, इससे मुझे खुशी मिलेगी। बहुत लोगो को शिख मिलेगी।

रवि कुमार को जब जेल में जल्लाद ना होने की खबर मीडिया से मिली, तो उन्होंने बिना देर किए हुए राष्ट्रपति को खत लिखा जिसमे उन्होंने इस बात का जिक्र किया है की उनको यह खबर मिडिया से मिली है कि जेल में जल्लाद ना होने की वजह से निर्भया के दोषियों को अभी तक फांसी की सजा नही दी जा सकी है।

इस घटना को सात साल पूरे हो चुके है लेखों अभी तक दोषियों को फांसी पैड नही लटकाया गया। निचली अदालत से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक ने निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा सुनाई दी है। एक ओर पूरा देश निर्भया के दोषियों को फांसी देने की बात कर रहा है, वही दूसरी ओर देश की सबसे बड़ी तिहाड़ जेल प्रशासन के पास जल्लाद ही नहीं है।

इस बात पर रवि कुमार ने राष्ट्रपति से मांग की है कि उन्हें तिहाड़ जेल में स्थाई रूप से जल्लाद के पद पर पदस्थ किया जाए, जिससे इतने दिनों से अपने हक के लिए न्याय मांग रही निर्भया की आत्मा को शांति प्रदान हो सके।

शिमला के संजौली के रहने वाले है, रवि कुमार, वंहा 20 साल से सब्जी की दुकान लगते हैं। वह अपने काम के साथ RTI और सामाजिक सदस्य भी हैं। कई वर्षो से सामाजिक कार्यों में अपना समय देते हैं। जन आंदोलन में भी अपना अहम किरदार अदा करते है। जानकारी के मुताबिक 2012 के विधानसभा चुनावों में रवि कुमार उम्मीदवार के रूप में शिमला ग्रामीण सीट से वीरभद्र सिंह के विरुद्ध चुनाव मैदान में उतार चुके हैं।


Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!