Tuesday, August 4, 2020
Home > India > मोदी सरकार की शिक्षा नीति का कांग्रेस नेत्री ने किया स्वागत, कहा मैं रोबोट नहीं राहुल जी, जानें

मोदी सरकार की शिक्षा नीति का कांग्रेस नेत्री ने किया स्वागत, कहा मैं रोबोट नहीं राहुल जी, जानें

Khusbu sunder on Rahul Gandhi
Spread the love

Khushbu Sundar Photo Credits: Twitter (@khushsundar)

Delhi: केंद्र सरकार ने हाल ही में नई शिक्षा नीति को मंजूरी दे दी। लगभग 34 साल बाद आई शिक्षा नीति (New Education Policy) में स्कूली शिक्षा (School Education) से लेकर उच्च शिक्षा तक कई बड़े बदलाव किए गए हैं। अब इसके अंतर्गत बच्चों पर से बोर्ड परीक्षा का भार कम किया जाएगा, तो उच्च शिक्षा के लिए भी अब सिर्फ एक नियामक होगा। पढ़ाई बीच में छूटने पर पहले की पढ़ाई बेकार नहीं होगी।

इसके तहत एक साल की पढ़ाई पूरी होने पर सर्टिफिकेट और दो साल की पढ़ाई पर डिप्लोमा सर्टिफिकेट दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में नई नीति पर मुहर लगाई गई। इसमें 2030 तक प्री-प्राइमरी से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक 100 फीसदी और उच्च शिक्षा में 50 फीसदी प्रवेश दर हासिल करने की बात कही गई है। शिक्षा पर सरकारी खर्च 4.43 फीसदी से बढ़ाकर जीडीपी का छह फीसदी तक करने का लक्ष्य है।

नई शिक्षा नीति में कहा गया है कि चार वर्षीय समन्वित बीएड डिग्री साल 2030 से शिक्षण कार्य के लिए न्यूनतम अर्हता होगी। निम्न स्तर के शिक्षण शिक्षा संस्थानों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। नई शिक्षा नीति के दस्तावेज के अनुसार साल 2022 तक राष्ट्रीय शिक्षक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) शिक्षकों के लिए एक साझा राष्ट्रीय पेशेवर मानक तैयार करेगी। इसके लिए एनसीईआरटी, एससीईआरटी, शिक्षकों और सभी क्षेत्रों के विशेषज्ञ संगठनों के साथ परामर्श किया जाएगा।

अब स्कूल के पहले पांच साल में प्री-प्राइमरी स्कूल के तीन साल और कक्षा एक और कक्षा 2 सहित फाउंडेशन स्टेज शामिल होंगे। इन पांच सालों की पढ़ाई के लिए एक नया पाठ्यक्रम तैयार होगा। अगले तीन साल का स्टेज कक्षा 3 से 5 तक का होगा। इसके बाद 3 साल का मिडिल स्टेज आएगा यानी कक्षा 6 से 8 तक का स्टेज।

मोदी सरकार की नई शिक्षा नीति का कई राजनीतिक दलों ने स्वागत किया, तो वही कुछ दल और लोग विरोध भी जता रहे है। वहीं फिल्म अभिनेत्री और कांग्रेस नेता खुशबू सुंदर (Khushbu Sundar) ने मोदी सरकार की नई शिक्षा नीति का स्वागत किया है। उन्होंने ट्वीट कर कांग्रेस नेता राहुल गांधी से पार्टी लाइन के अगल जाने पर माफी भी मांगी है।

अभिनेत्री और कांग्रेस नेता खुशबू सुंदर अपने ट्वीट में कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 पर मेरा विचार मेरी पार्टी से अलग है और मैं इसके लिए राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से माफी मांगती हूं। परन्तु मैं कठपुतली या रोबोट (I am Not Robot) की तरह सिर हिलाने के बजाए फैक्ट्स पर बात करती हूं। अपने नेता से हम हर चीज पर सहमत नहीं हो सकते, लेकिन बतौर नागरिक बहादुरी से अपनी राय या विचार रख सकते हैं।

खुशबू सुंदर ने अपने एक अन्न ट्वीट में कहा कि राजनीति केवल शोर मचाने के लिए नहीं है, इसके बारे में मिलकर एक साथ काम करना है और भाजपा तथा पीएमओ को इसे समझना होगा। विपक्ष होने के नाते, हम इस पर विस्तार से देखेंगे और खामियों को भी बताएंगे। भारत सरकार को नई शिक्षा नीति से जुड़ी खामियों को लेकर हर किसी को विश्वास में लेना चाहिए।

बता दे की नई शिक्षा नीति के बारे में अपने एक अन्य ट्वीट में खुशबू सुंदर ने कहा कि मैं पॉजिटिव पहलुओं को देखना पसंद करती हूं और नेगेटिव चीजों पर काम करती हूं। हमें समस्याओं के समाधान की पेशकश करनी है न कि केवल आवाजें बुलंद करना। विपक्ष का तात्पर्य देश के भविष्य के लिए काम करना भी है।

सबसे बड़ी बात यह है की खुशबु सुंदर ने यह भी कहा कि संघ से जुड़े लोग रिलेक्स हो सकते हैं, परन्तु उन्हें अति उत्साहित नहीं होना चाहिए। मैं भाजपा में नहीं जा रही हूं। मेरी राय मेरी पार्टी से अलग हो सकती है, लेकिन मैं खुद की सोच के साथ एक व्यक्ति हूं। हां, नई शिक्षी नीति में कुछ जगहों पर कमियां है, लेकिन मुझे अभी भी लगता है कि हम सकारात्मकता के साथ बदलाव को देख सकते हैं।


Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!