Friday, September 25, 2020
Home > India > चीन को पटकनी देते हुए भारत ने UN का यह चुनाव जीता, 50 पीसदी देशों ने चीन को नहीं चुना: एक नंबर न्यूज़

चीन को पटकनी देते हुए भारत ने UN का यह चुनाव जीता, 50 पीसदी देशों ने चीन को नहीं चुना: एक नंबर न्यूज़

India in UN
Spread the love

File Image

Delhi: भारत ने संयुक्त राष्ट्र में एक महत्वपूर्ण चुनाव को जीतकर फिर से अपना डंका बाजवा दिया है। बता दे की महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए UN के प्रमुख वैश्विक निकाय यूएन कमीशन ऑन स्टेटस ऑफ वोमेन आयोग (ECOSOC) के सदस्य के रूप में भारत को चुना गया है।

विदेशी मीडिया में खबर गई है की बीजिंग वर्ल्ड कॉन्फ्रेंस ऑन वीमेन की 25 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में भारत ने चीन को हराकर प्रतिष्ठित निकाय में सीट जीती है। इस अहम् चुनाव को लेकर संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने बयान जारी कर कहा कि “भारत UNCSW का सदस्य चुना। यह हमारे सभी प्रयासों में लैंगिक समानता और महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए हमारी प्रतिबद्धता का एक महत्वपूर्ण समर्थन है। हम सदस्य देेेशों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं।” अब भारत का विश्व गुरु बनना तय है।

बता दें कि भारत, अफगानिस्तान और चीन ने इस संगठन के लिए चुनाव लड़ा था। भारत और अफगानिस्तान ने 54 सदस्यों के बीच मतदान में जीत हासिल की, जबकि चीन आधे रास्ते को भी पार नहीं कर सका। इस वर्ष प्रसिद्ध बीजिंग वर्ल्ड कॉन्फ्रेंस ऑन वीमेन (1995) की 25 वीं वर्षगांठ है। भारत चार साल, 2021 से 2025 तक महिलाओं के इस आयोग पर यूनाइटेड नेशन के कमीशन का सदस्य रहेगा।

वहीँ एक अन्न मसले पर चीन एक बार फिर से गच्चा खा गया है। भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद में भारत को बड़ी बढ़त मिल चुकी है। चीन भले ही चालाक बनने की कोशिश कर रहा है, लेकिन भारत चीन को करारा जवाब दे रही है।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) पिछले कुछ दिनों से वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारतीय सैनिकों को पीछे हटाने की कोशिश में जुटे हुए थे। हालांकि, उनकी यह चाल काम नहीं आई। Lac में चीन की विफलता का मतलब है कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) की किसी को भी भय दिखाने की क्षमता कम हो गई है।

बता दें कि भारत-चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर महीनों से गतिरोध जारी है। चीनी सेना लगातार उकसावे वाली हरकत कर रही है, जिसका भारतीय जवान सॉलिड जवाब दे रहे हैं। अब चीन भी अपना हर कदम सोचा समझकर उठा रही है और भारत का लोहा भी मान रही है।

बता दे की अमेरिका में पेशे से वकील और जानकार गॉर्डन जी चांग द्वारा लिखित न्यूज़वीक के लिए एक ओपिनियन आर्टिकल लिखा है। इस लेख के अनुसार चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Xi Jinping) ने एलएसी के अधिक क्षेत्रों में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की असफल हाई-प्रोफाइल घुसपैठों के साथ अपने भविष्य को संकट में डाल दिया है। लेखक का कहना है कि शी जिनपिंग (Xi Jinping) भारत में इन कदमों के वास्तुकार हैं और चीनी सैनिक अप्रत्याशित रूप से फ्लॉप हो गए हैं।


Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!