Thursday, October 29, 2020
Home > Ek Number > भारतीय रेत आर्टिस्ट सुदर्शन ने अमेरिका में International Award जीतकर नाम रौशन किया

भारतीय रेत आर्टिस्ट सुदर्शन ने अमेरिका में International Award जीतकर नाम रौशन किया

Indian Win In Amrica
Spread the love

भारतीयो ने अपने टेलेंट के झंडे विदेशों में भी गाढ दिए है। भारतीय भी अपने नाम का जादू सारी दुनिया मे फैला रहे है। अपने टेलेंट से विदेशों में अपने नाम का परचम लहराने में सफलता हासिल कर रहे है। भारतीय के सुदर्शन पटनायक ने भारत ही नही अपनी प्रतिभा से विदेश में भी अपनी अलग पहचान बना ली है। सुदर्शन को भारत के भारतीय सैंड आर्टिस्ट और पद्म पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।

सुदर्शन पटनायक को अमेरिका में सैंड स्कल्पटिंग फेस्टिवल में आमंत्रित किया गया था। सुदर्शन ओडिशा के रहने वाले है। सुदर्शन ने अपनी रेत मूर्तिकला से सभी को अपना दीवाना बना लिया है। भारत मे तो उनकी रेत मूर्तिकला के दीवाने देखने को मिलते है, लेकिन अब सुदर्शन ने अमेरिका में भी अपनी रेत मूर्तिकला का दीवाना बना दिया है।

सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने अमेरिका के बोस्टन शहर में आयोजित इंटरनेशनल सैंड स्कल्पटिंग चैंपियनशिप 2019 अंर्तराष्ट्रीय रेत मूर्तिकला चैंपियनशिप में पीपल्स च्वॉइस अवार्ड अपने नाम दर्ज कर लिया। यह भारतियों के लिए बहुत ही गर्व की बात है।

सुदर्शन ने ‘सेव द ओशियन’ में एक मैसेज दिया कि प्लास्टिक प्रदूषण पर प्रतिबंध लगाना चाहिए, एक रेत कला को उकेरा उनकी इस प्रतिभा से उन्हें यह सम्मान से सम्मानित किया गया गई। दुनियाभर से सभी प्रतिभा कारियो ने अपनी प्रतिभा का टेलेंट दिखाने के लिए इस आयोजन में हिस्सा लिया था।

हिंदुस्तान के अतिरिक्त 15 मूर्तिकारों ने इस समारोह में हिस्सा लिया था। उत्सव में बेल्जियम ने स्कल्पचर्स च्वॉइस और कनाडा ने ज्यूरीज च्वॉइस पुरुस्कार अपने नाम दर्ज किया। यहाँ पूरी दुनिया भर के आर्टिस्ट अपनी किस्मत आज़मा रहे थे, किन्तु एक भारतीय ने बाज़ी मार ली।

सुदर्शन ने अपनी इस उपलब्धि पर ट्विट करते हुए कहा, “Save our Ocean” मैसेज के साथ “स्टॉप प्लास्टिक पॉल्यूशन” पर एक रेत कलाकृति बनाई। कई सारे लोगों ने मेरी इस रेत कला के लिए वोट किया जिसे देखकर काफी खुशी हुई।” सुदर्शन अपनी रेत कला जे माध्यम से नये नये संदेश देते है समाज को। सभी उनकी इस कला का सम्मान करते है।

सुदर्शन सामाजिक जागरूकता बढ़ाने के साथ अपने रेत कला के लिए भी मशहूर हैं। उन्होंने हिंदुस्तान से बाहर भी 60 से अधिक अंतर्राष्ट्रीय रेत मूर्तिकला चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और हिंदुस्तान के नाम कई अवार्ड भी हासिल किए। इससे पहले सुदर्शन को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका हैं। सुदर्शन का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शामिल है। वो अपनी रेत कलाकृतियों से सभी मनमोह लेते है। हर कोई उनकी रेत कलाकृतियों का दीवाना हो जाता है।


Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!