Home > Ek Number > डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ को बचाने वाली PPE Kit से यह नुक्सान, कोरोना वारियर्स की परेशानी जानें

डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ को बचाने वाली PPE Kit से यह नुक्सान, कोरोना वारियर्स की परेशानी जानें

Corona Warriors Doctors
Spread the love

Presentation File Image

Bhopal/Madhya Pradesh: कोरोना महामारी (Coronavirus) के खिलाफ जंग में मोदी सरकार स्वास्थ्यकर्मियों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा की चिंता कर रही है। केंद्र सरकार ने स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा को ध्यान मे रखते हुए देश के सभी राज्यों में 53 लाख से भी अधिक N-95 मास्क वितरित किये हैं। इसके अलावा पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (PPE) किट भी उपलब्ध कराए गए हैं।

कोरोना जंग में स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा पर भाजपा ने अपने ऑफिसियल ट्विटर हैंडल पर लिखा की कोरोना के खिलाफ लड़ाई में स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित कर रही है, मोदी सरकार। केंद्र सरकार ने देश के सभी राज्यों में 53.72 लाख से अधिक N-95 मास्क वितरित किए हैं। महाराष्ट्र को सर्वाधिक 9.75 लाख से अधिक N-95 मास्क वितरित किए गए हैं।

Corona Virus Updates
Demo File Image

आपको बता दें की भाजपा ने महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, राजस्थान, मध्यप्रदेश उत्तर प्रदेश और अन्य राज्यों में बांटे गए मास्क की संख्या भी बताई है। PPE किट के बारे में जानकारी देते हुए भाजपा ने लिखा की केंद्र सरकार ने देश के सभी राज्यों में 21.32 लाख से अधिक पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट (PPE) वितरित किए हैं। महाराष्ट्र में सर्वाधिक 4.10 लाख से अधिक PPE वितरित किए गए हैं।

देश में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार की ओर से जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। हालांकि भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोविड-19 के कुल कंफर्म केस 49391, इससे ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 14183 और अपने प्राण गवाने वाले का आंकड़ा 1694 हो गया है।

कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ COVID-19 संक्रमण से बचने के लिए PPE किट का उपयोग करते हैं। ये PPE किट डॉक्टरों और नर्सिंग स्टाफ को कोरोना के संक्रमण से तो बचा रही हैं, परानु इसको लगातार लम्बे समय तक पहने रहने की वजह से डॉक्टरों में स्किन इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ रहा है।

corona virus US update
Demo File Image

एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है की चीनी शोधकर्ताओं द्वारा एक अध्ययन के अनुसार कोरोना के मरीजों का इलाज करने वाले 42.8 प्रतिशत मेडिकल स्टाफ ने PPE किट के उपयोग करने से त्वचा में घाव हो गए। यह रिपोर्ट जर्नल ऐडवान्सेस इन वूण्ड केयर में छपी है। इस अध्ययन में ऑनलाइन सर्वे की सहायता से उन मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर्स से जानाकरी ली गई, जिन्होंने 8 से 22 फरवरी के बीच कोरोना के मरीजों का इलाज़ किया था।

इस रिपोर्ट के अनुसार पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट PPE के इस्तेमाल से 3 तरह के घाव देखने को मिले हैं। जिसमें दबाव की वजह से चोट लगना, स्किन का नम हो जाने से घाव होना हिजली होना और स्किन ख़राब होना शामिल है। इन घावों का बड़ा कारण ज़ादा पसीना आना, अधिक वक़्त तक PPE किट पहने रहना और भारी किट का इस्तेमाल करना हो सकता है।

The researchers found the overall prevalence of skin injuries was 42.8 per cent with three types of PPE-related skin injuries, device-related pressure injuries, moist associated skin damage and skin tear.

इस रिपोर्ट में बताया गया PPE किट के इस्तेमाल से होने वाले घावों से बचने के लिए मास्क पहनने से पहले त्वचा को पूरी तरह से साफ करना बहुत जरूरी है। साथ ही त्वचा को हाइड्रेटेड रखना भी बेहद जरूरी है। मास्क पहनने से 1 घंटे पहले यदि बैरियर क्रीम का तेमाल करें तो भी स्किन की दिक्कत से बचा जा सकता है।

Facebook Comments

Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!