Home > Ek Number > PoK भारत का अभिन्न हिस्सा है, यह अटल सच पाकिस्तान ने मान लिया है, जानें पूरा मामला

PoK भारत का अभिन्न हिस्सा है, यह अटल सच पाकिस्तान ने मान लिया है, जानें पूरा मामला

India-POK-Pakistan-Modi
Spread the love

Presentation Image

Jammu/Kashmir: भारत और पाकिस्तान के अलावा पूरी दुनिया को पता है की PoK भारत का अभिन्न हुस्सा है। पाकिस्तान ने भारत के कश्मीर के एक हिस्से में अवैध कब्ज़ा कर रखा है। वैसे तो पाकिस्तान इस कब्ज़े वाले कश्मीर को आज़ाद कश्मीर कहता है। परन्तु आज खुस की गलती से पाकिस्तान ने इस अटल सत्य को कबूल कर लिया कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है।

असल में कोरोना वायरस महामारी को लेकर पाकिस्तान की ऑफिसियल वेबसाइट Covid.gov.pk पर पाकिस्तान ने सही नक्शा लगाकर इस बात को उनकी गलती से एक्सेप्ट कर लिया की जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के हिस्सों पर उसका कब्जा पूरी तरह से बेबुनियाद है।

पाकिस्तान में कोरोना महामारी का कहर जारी है और उसे दर्शाने के लिए वेबसाइट Covid.gov.pk का उपयोग किया जा रहा है, जहां देश में COVID19 के ग्राफ को दर्शाया जा रहा हैं। इस मैप में कितने लोग कोरोना पीड़ित है, कितनों लोग प्राण गवा दिए है और अभी कितनों का इलाज चल रहा हैं। यह सब आकड़े दर्शाये जा रहे है। इसके अलावा पाकिस्तान के किस प्रांत में कोरोना के कितने मरीज है इसके बारे में भी डाटा दिया जा रहा हैं।

अब इस वेबसाइट पर पाकिस्तान को दर्शाने के लिए जो नक्शा यूज़ किया गया है, उसमें पाकिस्तान में PoK ( पाकिस्तान के हिसाब से आजाद कश्मीर) को भारत में दिखाया गया है। इससे यह साफ़ हो गया की अंदर ही अंदर पाकिस्तान काबुल करता है की पूरा कश्मीर भारत का भाग है।

आपको पता है की सन 1947 में पाकिस्तान ने धोखे से क़बाइलो की मदत से जम्मू-कश्मीर पर हमला कर एक हिस्से पर कब्जा कर लिया था। तब से वह उसे आज़ाद कश्मीर कहता है। इससे पहले भारत ने संकेत दे दिए थे। इससे पहले भारत ने संकेत दे दिए थे। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश घोषित होने के बाद भारत सरकार ने नया नक्शा पास किया था। पड़ोसी देश पाकिस्तान इस बात को निगल नही पा रहा था।

Govt of Pakistan shows Jammu and Kashmir as part of India on official map. Indians said, For once we all will agree with government of Pakistan on Kashmir. Now Pakistan has accepted that the entire Kashmir is a part of India. On a map published on an official website of Pakistan, the entire Kashmir is shown as part of India.

भारत सरकार ने पिछले दिनों नए बनाए गए केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का नया MAP जारी किया था। गृह मंत्रालय द्वारा जारी नए MAP में PoK के हिस्से वाले कश्मीर को भी कश्मीर के Part के रूप में प्रदर्शित किया गया है। Map में Pok कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर का Part है, जबकि गिलगित-बाल्टिस्तान लद्दाख का Part है।

भारत ने पाकिस्‍तान को सीधे तौर पर समझा दिया है कि गिलगित-बाल्टिस्‍तान उसका अभिन्‍न अंग है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने जम्‍मू-कश्‍मीर सब-डिविजन को अब ‘जम्‍मू और कश्‍मीर, लद्दाख, गिलगित-बाल्टिस्‍तान और मुजफ्फराबाद’ कहना स्टार्ट कर दिया है।

Jammu Kashmir New Map Row
Demo File Image

आपको मालुम हो की कश्मीर का हिस्सा गिलगित-बाल्टिस्‍तान और मुजफ्फराबाद दोनों पर पाकिस्‍तान ने अवैध रूप से कब्‍जा कर लिया था। हाल ही में IMD ने नॉर्थवेस्‍ट इंडिया के लिए जो अनुमान जारी किए, उसमें गिलगित-बाल्टिस्‍तान और मुजफ्फराबाद को भी दर्शाया गया है। यह भारत की ओर से एक ठोस और सही कदम बताया जा रहा है।

आपको बता दें की अभी हाल ही में भारत ने पाकिस्तान से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) को खाली करने को कहा था। भारतीय विदेश मंत्रालय (MEA) ने कहा कि पाकिस्तान को बता दिया गया है कि गिलगित और बाल्टिस्तान (Gilgit-Baltistan) समेत पूरा जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) और लद्दाख (Ladakh) भारत का अभिन्न हिस्सा हैं। पाकिस्तान को अपने अवैध कब्जे से इन क्षेत्रों को तत्काल खाली कर देना चाहिए।

भारत ने पाकिस्‍तान से कहा था कि संसद से 1994 में पास एक प्रस्ताव के अनुसार जम्मू-कश्मीर पर स्थिति साफ है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान के हालिया कदम केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के कुछ हिस्सों पर उसके ‘अवैध कब्जे’ को छुपा नहीं सकते हैं। पिछले कई सालों से इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के ‘मानवाधिकारों का उल्लंघन किया गया, शोषण किया गया और उन्हें स्वतंत्रता से वंचित’ भी रखा गया।

Facebook Comments

Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!