Thursday, July 2, 2020
Home > Dharma > इस बार अमरनाथ यात्रा इस चैनल पर लाइव टेलीकास्ट होगी, इतिहास में पहली बार सब देखेंगे

इस बार अमरनाथ यात्रा इस चैनल पर लाइव टेलीकास्ट होगी, इतिहास में पहली बार सब देखेंगे

Amarnath Yatra 2020
Spread the love

Image Credits: Twitter

Srinagar: देश में कोरोना महामारी के कहर के बीच भारत के इतिहास में पहली बार श्री अमरनाथ यात्रा का लाइव टेलीकास्ट होगा। मतलब ऐसा पहली बार होगा जब सभी भक्त घर बैठकर भी बर्फानी बाबा की यात्रा और दर्शन कर पाएंगे। इस अभियान को सफल बनाने के लिए श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड (SASB) ने दूरदर्शन चैनल से आग्रह किया है।

खबर मिली है की श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड ने तीर्थयात्रा के समय सुबह और शाम की पूजा और आरती का लाइव प्रसारण करने के लिए डीडी नेशनल से कॉन्टेक्ट किया है। ऐसी खबर मिली है की 5 जुलाई से 3 अगस्त तक प्रातः और संध्या दोनों समय की आरती का दूरदर्शन पर लाइव प्रसारण होगा।

आपको बता दे की तीर्थयात्रा अगले महीने से शुरू होने की पूरी संभावना व्यक्त की जा रही है। भगवान् अमरनाथ की पवित्र गुफा से 1.2 किलोमीटर दूर निचली गुफा के पास एक नया हैलीपैड बनाया जा रहा है। पहलगाम डेवलपमेंट अथॉरिटी को 30 जून तक यह कंस्ट्रक्शन पूरा करने को कहा गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है की पारंपरिक बालटाल ट्रैक को आधे से ज्यादा क्लियर कर लिया गया है। इस ट्रैक पर सात में से पांच पुल शुरू कर दिए गए हैं। पुलिस ने रस्ते में सभी सेवको और कामगारों की जाँच कर ली है। अब वे सभी सेवाएं देने के लिए तैयार भी हैं। अमरनाथजी श्राइन बोर्ड के सीईओ बिपुल पाठक ने बताया कि पवित्र गुफा में शिविर भी स्थापित कर दिए गए है।

बताया गया है की बेस कैंप बालटाल और नीलग्राथ हैलीपैड 7 दिनों में बना लिया जाएगा। अमरनाथ यात्रा मार्ग से बर्फ हटाने का काम पूरा हो चुका है। अभी कोरोना महामारी के फैलाव के कारण अमरनाथ यात्रा को अब छोटे स्तर पर करवाने के लिए विचार विमर्श हो रहा है। दूरदर्शन को भी सुचना देकर आग्रह किया गया है।

इस बात की पूरी संभावना है की अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से शुरू होने और अगस्त के पहले सप्ताह में ख़त्म हो सकती है। कश्मीर में श्रीनगर के दूरदर्शन केंद्र के एक अधिकारी ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि यदि मरनाथ यात्रा का लाइव टेलीकास्ट होता है, तो ऐसा पहली बार होने होगा, जब सभी लोग इसे TV पर देखेंगे। अब आखिरी फैसला मुख्यालय द्वारा लिया जाना बाकी है।

आपको जानकारी हो की भोलेनाथ की अमरनाथ की यह गुफा जम्मू-कश्मीर राज्य में स्थित है। अमरनाथ गुफा में ही भगवान भोलेनाथ ने माता पार्वती को अमरत्व की कहानी सुनाई थी। अमरनाथ गुफा में बाबा के दर्शन करने से ही जीवन की कई तरह की परेशानियों से व्यक्ति उसे आसानी से पार कर जाता है।

इस गुफा की खास बात यह है कि हर साल प्राकृतिक रूप से शिवलिंग का निर्माण होता है, जिसके दर्शन करने के लिए देश-विदेश से भोलेनाथ के भक्त आते हैं। जानकरों के अनुसार भगवान शिवशंकर ने माता पार्वती को इसी गुफा में बैठकर अमरत्व की कहानी सुनाई थी। इस वजन से इस गुफा का बहुत महत्व है।

इस गुफा में हर साल प्राकृतिक रूप से ठोस बर्फ से शिवलिंग का निर्माण होता है। शिवलिंग के अतिरिक्त पास में ही माता पार्वती और शिवपुत्र भगवान गणेश का भी बर्फ का लिंग बना हुआ दिखाई देता है। इस अमरनाथ गुफा में बाबा भोलेनाथ जहां साक्षात विराजमान रहते हैं वहीं देवी सती का महामाया शक्तिपीठ भी है। इस जगह पर देवी सति का कंठ गिरा था। एक साथ एक ही जगह पर शिवलिंग और शक्तिपीठ के दर्शन से सभी तरह की मनोकामना की पूर्ति होती है।

कहा जाता है की अमरनाथ गुफा को लगभग 500 साल पहले खोजा गया था और इसे गुफा को खोजने का श्रेय एक मुस्लिम, बूटा मलिक को दिया जाता है। बूटा मलिक के वंशज अभी भी बटकोट नाम के स्थान पर रहते हैं और अमरनाथ यात्रा से सीधे संपर्क से जुड़े हैं। सबसे प्रथम भगवान शिव ने अपने नंदी का त्याग किया। जहां पर उन्होंने नंदी को छोड़ा वह पहलगाम के नाम से प्रसिद्ध है।

Facebook Comments

Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!