Tuesday, January 26, 2021
Home > Zabardast > आस्ट्रेलिया में विधायक बन भारत के बेटे दीपक ने ये साबित किया कि कोई भी काम छोटा नही होता है।

आस्ट्रेलिया में विधायक बन भारत के बेटे दीपक ने ये साबित किया कि कोई भी काम छोटा नही होता है।

Deepak Raj Gupta MLA
Spread the love

News & Photo Credits: Twitter(@Deepak_R_Gupta)

भारत के बेटे दीपक ने कार धोने से लेकर वेटर तक का काम किया कभी किसी काम से पीछे नही हटे, आज ऑस्ट्रेलिया में विधायक बन गए हैं भारत के बेटे दीपक। भारतवंशी दीपक राज गुप्ता ऑस्ट्रेलिया में विधायक बन अपने भारत को गर्व से ऊंचा कर दिखाया। मंगलवार कोऑस्ट्रेलिया कैपिटल टेरेटरी असेंबली में पहले भारतीय-ऑस्ट्रेलियन मेंबर दीपक राज गुप्ता ने भगवद् गीता पर हाथ रखकर शपथ ग्रहण की।

30 वर्ष की उम्र में दीपक 1989 में ऑस्ट्रेलिया गए थे। भारतीय वंश दीपक राज गुप्ता ने बताया कि मैंने भगवद् गीता पर हाथ रखकर शपथ लेने का निर्णय पहले ही कर लिया था। खबरो के मुताविक ऑस्ट्रेलिया के सदन में बाइबल के माध्यम से शपथ ली जाती थी। मैंने अपनी इच्छा जाहिर की तो असेंबली के अधिकारियों ने Rule चेक किए कि कोई सदस्य अन्य धर्म के ग्रंथ के साथ शपथ ग्रहण कर सकता है।

इसमे किसी तरह की कोई पाबंदी नही है सभी सदस्य को समान अधिकार है। किसी प्रकार की पाबंदी न होने के बाद मुझे परमिशन दी गई। मैं वहां अपने साथ भगवद् गीता की एक प्रति लेकर गया था। उन्होंने बाद में भगवद् गीता को असेंबली अधिकारी को बतौर सोविनियर उपहार के रूप में भेंट कर दी।


दीपक राज गुप्ता के भाई अनिल राज ने कहा कि दीपक ने ऑस्ट्रेलिया में बहुत संघर्ष किया। उन्होंने कभी भी किसी काम को छोड़ा नही समझा हमेशा खुश होकर हर काम किया। उन्होंने कार धोने से लेकर रेस्टारेंट में वेटर का भी काम किया। इस दौरान वे साथ में अपनी पढ़ाई भी जारी रखी। दीपक को साल 1991 में पब्लिक रिलेशन ऑफिसर की Job मिली।

इसके बाद उनके संघर्ष और मेहनत से उन्हें डिपार्टमेंट ऑफ डिफेंस में एग्जीक्यूटिव अफसर की Govrment नौकरी मिली। अनिल ने कहा कि वे ऑस्ट्रेलिया में रहकर भी भारतीय संस्कृति को नहीं भूल नही पाएंगे। उन्होंने भारतीय संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए कई समारोह का आयोजन किया।

कैनबरा में India के विभिन्न पर्व मनाए गए जिसमें मंत्रियों को आमंत्रित किया गया ताकि भारत की संस्कृति के बारे में लोगों को अधिक से अधिक जानकारी मिल सके। उन्होंने हमेशा भारतीय होने का फर्ज निभाया।


भारतीय संस्कृति को सबके सामने रखा जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग जागरूक जो सके। मंदिर और गुरुद्वारा बनाने मेंं भी अपना सहयोग दिया। इसके बाद दीपक गुप्ता को मल्टी कल्चर एडवोकेट और एक्सीलेंस कम्युनिटी सर्विस का खिताब अपने नाम किया। भारतीय होने पर दीपक को गर्व है। ऑस्ट्रेलिया में रहकर भी उन्हीने भारतीय संस्कृति को महत्व दिया।

Deepak RajGupta joined the Legislative Assembly. As the first Indian-born MLA, Deepak’s first speech gave a fantastic overview of a man with great experience and strong community values.


Spread the love
Ek Number
Ek Number
This is Staff Of Ek Number News Portal with editor Nitin Chourasia who is an Engineer and Journalist. For Any query mail us on eknumbernews.mail@gmail.com
http://www.eknumbernews.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!